सालारजंग संग्रहालय हैदराबाद | All about Salar jung museum

1.सालारजंग म्यूजियम कहाँ स्थित है ? [Salarjung museum in hindi]

सालारजंग म्यूजियम तेलंगाना की राजधानी, हैदराबाद में स्थित है। यह एक कला संग्रहालय है।

इस संग्रहालय में 10 लाख से भी ज्यादा वस्तुए संगृहीत करके रखी गयी है, जिसे देखने के लिए भारत सहित दुनियाभर के पर्यटक आते रहते है।

इसकी स्थापना 16 दिसम्बर 1951 को यानि आज से लगभग 70 वर्ष पहले हुयी थी। इस संग्रहालय में अनगिनत चित्र,  मूर्तियां और निजाम से सम्बंधित अन्य चीज़ों को रखा गया है।

इस संग्रहालय में कुल 78 कमरे है। यह पहले हैदराबाद के निजाम सालारजंग का निवास स्थल हुआ करता था, और इसमें निजाम और उनके परिवार के लोग रहा करते थे।

2. सालारजंग संग्रहालय में रखी गयी वस्तुएं

इस संग्रहालय में अनेकों चित्र प्रदर्शनी के रूप में रखे गए है।

इस संग्रहालय की भव्यता की बात करें तो इसमें विदेशों से भी कई चित्र रखे गए है जो सालारजंग संग्रहालय की खूबसूरती में चार चाँद लगाते है।

3.1 बिब्लिस पेंटिंग [Biblis painting]

इस पेंटिंग को विलियम अडोल्फ बौगुएरेऔ नाम के एक प्रसिद्ध फ़्रांस के चित्रकार द्वारा वर्ष 1884 में बनाया गया था।

इस पेंटिंग की बात करें तो इसे तैल चित्र के माध्यम से बनाया गया था जिसे हम oil-Painting के नाम से भी जानते है।

Salar jung Museum/artworks

इस पेंटिंग में यह दर्शाया गया है की मिलेटस की बेटी को अपने जुड़वां भाई कउनुस से प्यार हो जाता है।

यह एक भावुकता से भरी पैंगिंग है जिसमे मिलेटस की बेटी नम आँखों से कानुकस का इंतज़ार कर रही होती है।

3.2 स्टोलेन पेंटिंग [Stolen interview paintings]

इस पेंटिंग को प्रसिद्ध भारतीय कलाकार राजा रवि वर्मा ने बनाया है। इस पेंटिंग को उन्होंने 1848 में बनाया था।

यह canvas  पर बनायीं गयी oil painting है। इस पेंटिंग को आप यहाँ से खरीद सकते है।

इस पेंटिंग में एक महिला जो हाथ में फूल लिए हुए है तथा उसका पति उसे निहार रहा है दिखाया गया है।

3..3 डिसअप्पोइंट पेंटिंग [Disappointed paintings]

इस पेंटिंग को भी राजा रवि वर्मा जी द्वारा बनाया गया था। इस पेंटिंग को उन्होंने 1848 से 1906 के बीच में बनाया था।

इस पेंटिंग में एक महिला जिसने हाथ में एक पत्र लिया हुआ है और साथ ही वह किसी सोच में डूबी हुयी है दिखाया गया है।

इस पेंटिंग के बारे में आप और अच्छे से जानना चाहते है तो यहाँ पर click करें।

3.4 ऑर्फियस और युरिडाइज़ पेंटिंग [Orpheus & Eurydice paintings]

इस पेंटिंग को George Fredric watts द्वारा 1880-1890 के बीच में बनाया गया था। यह canvas  पर बनायीं गयी oil painting है।

इस पेंटिंग के बारे में जानने के लिए यहां पर click करें।

3.5 वाल प्लाक पेंटिंग [Wall plaque paintings]

इस पेंटिंग्स को 19 शताब्दी में बनाया गया था।

3.6 सालारजंग म्यूजियम घड़ी [salarjung museum clock]

सालारजंग संग्रहालय में रखी यह घडी इंग्लैंड में manufacture हुयी और हैदराबाद में assemble हुयी थी। इस घडी में 350 से ज्यादा पुर्जे जुड़े हुए है।

यह घड़ी इस museum की सबसे आश्चर्चयजनक और खूबसूरत चीज़ है। जब भी यह घड़ी प्रत्येक घंटे पर बजती है तो इसे देखने के लिए भीड़ इकट्ठी हो जाती है।

इस घडी को आप YouTube पर देख सकते है।

4. सालारजंग संग्रहालय प्रवेश एवं टिकट [Salarjung museum ticket & timing]

सालारजंग संग्रहालय सप्ताह के 6 दिन खुले रहते है। सिर्फ Friday & public holiday पर यह museum  बंद रहता है।

यह संग्रहालय प्रत्येक सुबह 10 बजे open होता है और शाम के 5 बजे तक बंद हो जाता है। इस संग्रहालय में enter करने के लिए आपके पास टिकट का होना बहुत जरुरी है।

Salar jung museum का टिकट 20 Rs  से लेकर 500 Rs तक रखा गया है।

इस टिकट को आप  salarjungmuseum.in या Viator.com से खरीद सकते है। अभी यह म्यूजियम कोरोना के कारण बंद है।

इस संग्रहालय के बारे में और अधिक जानकारी के लिए आप इस phone no – 04024576443 पर call कर सकते है.

5. हैदराबाद में स्थित अन्य संग्रहालय [Museum in Hyderabad]

Salar jung museum के अलावा हैदराबाद शहर में कुल 18 अन्य museum  present है –

chowmahalla palaceNeharu centenary tribal museum
The nizams museumAfzal mahal
B.M birla science museumVintage cars and bggies
Telangana state archaeologyRanhniyat mahal
Sudha car museumNirmala birala gallary
Purani haweliDo science
SurendarapuriSayeed thermacol
kiDiHouMahatma gandhi digi
City of museum muzaffarnaIllusion museum

6. सालारजंग संग्रहालय का महत्व [Salarjung Museum Importance]

सालारजंग संग्रहालय दुनिया के सबसे बड़े संग्रहालयों में से एक माना जाता है।

इस संग्रहालय में 10 लाख से भी ज्यादा वस्तुएं रखी गयी है जो इसे भारत का सबसे अनोखा संग्रहालय बनाती है। 

Importance of Salar jung museum

इस संग्रहालय में मूर्तियां पेंटिंग्स नक्काशीदार वस्तुए पांडुलिपियां एवं वस्त्र इत्यादि चीज़े रखी गयी है।

इन चीज़ों को जापान चीन बर्मा नेपाल भारत ईरान इजिप्ट यूरोप एवं उत्तरी अमेरिका से लायी गयी है।

इसे पढ़ें – भारत के 17 अनोखे संग्रहालय

8. निष्कर्ष [Conclusion]

दोस्तों सालारजंग संग्रहालय में आपको देश विदेश की बेहतरीन मूर्तियां पेंटिंग्स नक्काशीदार वस्तुए पांडुलिपियां एवं वस्त्र इत्यादि का संग्रह किया गया है जो आप सभी पर्यटकों का दिल छू लेगा।

यहाँ आने पर आपको पता चलेगा की हैदराबाद के निजाम यानी राजाजी का जीवन कैसा था उसके आलावा उस समय के आम नागरिक कैसे रहते थे।

यदि आप एक इतिहास के विद्यार्थी है और आपको राजाओं की जीवन, उनकी कार्यशैली, युद्धनीति इत्यादि चीज़ों से प्रेम है तब तो आपके लिए यह जगह सोने पर सुहागा सिद्ध होगी।

और पढ़ें –

9. सबसे जरुरी बात [Most important thing]

दोस्तों इन ऐतिहासिक इमारतों या पर्यटन स्थलों पर टिकट के पैसा, यात्रा अवधी जैसे छोटी चीज़ें बदलती रहती है।

इसलिए यदि आपको इनके बारे में पता है तो जरूर कमेंट में जरूर बताएं।

हम जल्द ही आपके द्वारा दी गयी जानकारी को अपडेट कर देंगे। यदि इस पोस्ट में कुछ गलती रह गयी हो तो उसे कमेंट में जरूर बताएं।

धन्यवाद !

Leave a Comment